कॉरपोरेट मामलों के मंत्रालय (एमसीए) के साथ दायर किए गए दस्तावेजों के मुताबिक, ऑनलाइन शॉपिंग प्लेटफार्म पेटीएम मॉल ने चीन के विशाल ऑनलाइन इ-कॉमर्स बिज़नेस अलीबाबा से भागीदारी के साथ जापान के सॉफ्टबैंक की अगुवाई वाली वित्तपोषण दौर में 3,000 करोड़ रुपये जुटाए हैं।

Paytm की इस फंडिंग के माध्यम से अब फ्लिपकार्ट और अमेज़न को टक्कर देने की कोसिस करेगी. इस फंडिंग के साथ Paytm की वैल्यू करीब 13,000 करोड़ रुपए मानी जा रही है।

Softbank

सॉफ्ट बैंक ने सोमवार को एक बयान में कहा, “हमें लगता है कि पेटीएम मॉल के ऑफ़लाइन टू-ऑनलाइन ऑपरेटिंग मॉडल, पेटीएम पारिस्थितिकी तंत्र की ताकत के साथ मिलकर, भारत की ई-कॉमर्स में भाग लेने के लिए भारत की 15 मिलियन ऑफ़लाइन रीटेल दुकानों को सक्षम करने के लिए विशिष्ट रूप से तैनात है।” ।

Paytm मॉल के मुख्य परिचालन अधिकारी अमित सिन्हा ने एक अलग बयान में कहा है कि कंपनी सॉफ्टबैंक और अलीबाबा से अपनी तकनीक को बढ़ाने के लिए और अन्य चीजों के साथ बेहतर रसद बनाने के लिए नवीनतम निवेश को नियुक्त करेगा।

सॉफ्टबैंक का तीसरा बड़ा दांव:

सॉफ्टबैंक की तरफ से ये ऑनलाइन मार्किट में तीसरा बड़ा दाव है, इससे पहले भी सॉफ्टबैंक ने २०१४ में Snapdeal में और 2017 में Flipkart में इन्वेस्ट कर चूका है.

अलीबाबा ने भी पहले SAIF पार्टनर्स के साथ मिलकर PAYTM में एक साल पहले 20 करोड़ का निवेश किया था।.