अदानी एंटरप्राइजेज (एईएल) को राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण से छत्तीसगढ़ में 1,140 करोड़ रुपये का कॉन्ट्रैक्ट मिला है, जो कि सड़क निर्माण अंतरिक्ष में प्रवेश कर रहा है। कंपनी ने हाइब्रिड वार्षिकी मॉडल (एचएएम) के तहत चार लेन सड़क परियोजना मिली है। एईएल अदानी ग्रुप की प्रमुख कंपनी है और यह एक कंसोर्टियम में अग्रणी भागीदार है जो अनुबंध के लिए बोली लगाता है। अदानी समूह एक प्रमुख बुनियादी ढांचा कंपनी है जिसमें विभिन्न ऊर्ध्वाधर जैसे बंदरगाहों, ऊर्जा और रसद शामिल हैं।

हलाकि यह सड़क बनाने की योजना को 730 दिनों में पूरी की जानी है और आपरेशन की शुरुआत से ऑपरेशन अवधि 15 साल होगी।

बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज को दिए गए एक बयान में यह कहा गया है, “जैसा कि देश देश के राजमार्गों की लंबाई दो से दो किलोमीटर (2 लाख किलोमीटर) के लिए दोबंद करने पर विचार कर रहा है, अदानी समूह इस तरह कंपनी के लिए विकास का अवसर मानता है। इस संबंध में, अदानी ग्रुप सार्वजनिक परिवहन अवसंरचना क्षेत्र में अपना पहला राष्ट्रीय संधिकाय प्राधिकरण (एनएचएआई) से हाइब्रिड वार्षिकी सड़क परियोजना का पुरस्कार देने की घोषणा करते हुए खुस है। ”

यह परियोजना के तहत छत्तीसगढ़ के राज्य बिलासपुर और पथपाली (53,300 किलोमीटर) के बीच चार लेन की सड़क का निर्माण करना है!

National-Highways-Authority-of-India

कंपनी के बयान में बताया है की, “एईएल ने हाल ही में भारतमाला परियोजना के तहत एनएचएआई द्वारा जारी किए गए टेंडर में भाग लिया था और हमें आपको सूचित करने में बड़ी खुसी हो रही है कि कंपनी को एनएचएआई से” 4- लेंन एन्युइटी मोड पर भारतमाला परियोजना के तहत छत्तीसगढ़ राज्य में “एनएच -111 (न्यू एनएच -130) का खंड बिलासपुर-पाथरापाली (किलोमीटर +2000 से किमी। 53 + 300) हाइब्रिड एन्युटी मोड के तहर मिला है!

इस परियोजना को भारतमाला कार्यक्रम कार्यक्रम के तहत सम्मानित किया गया है। भारतमाला परियोजना पूरे राजमार्ग क्षेत्र के लिए पूरे देश में माल सामान और यात्रीयो की परिवहन अनुकूलन करने के लिए है।

परियोजना को प्रमुख करने के लिए, कंपनी ने एस्सेल हाईवे के पूर्व सीईओ, कृष्ण प्रकाश माहेश्वरी को नियुक्त किया है।.